क्लास 10 का विज्ञान का यह पहला चैप्टर है। पहला चैप्टर रसायन शास्त्र से सम्बंधित चैप्टर है। चैप्टर  नाम है रासायनिक अभिक्रियाएँ एवं समीकरण। चलिये सबसे पहले हम इसका मतलब बताते हैं उसके बाद इस चैप्टर के सभी टॉपिक को कवर करेंगे ।।

आप रासायनिक अभिक्रियाएँ एवं समीकरण चैप्टर का Pdf में भी डाउनलोड कर सकते हैं। नीचे download लिंक भी दिया गया है।

Table of Contents

रासायनिक अभिक्रियाएँ एवं समीकरण

पिछले क्लास में भी पढ़े होंगे लेकिन क्लास 10 में इस चैप्टर को डिटेल में पढ़ेंगे । और एक-एक चीज को बारीकी से बताएंगे ।

रासायनिक अभिक्रियाएँ :-

दो या दो से अधिक पदार्थ मिलकर एक या एक दो या दो से अधिक पदार्थ मिलकर एक या एक से अधिक नए गुणधर्म वाले पदार्थों का निर्माण करते हैं उसे रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं ।

जैसे :- mg + o2 –> mgo2

=> रासायनिक अभिक्रिया के लक्षण :-

  1. अवस्था में परिवर्तन
  2. रंग में परिवर्तन
  3. तापमान में परिवर्तन
  4. गैस का उत्सर्जन

=> अभिकारक (reactant) :-

ऐसे पदार्थ जो रासायनिक अभिक्रिया में भाग ले उसे अभिकारक कहते हैं ।

=> उत्पाद (product) :-

ऐसे पदार्थ जिनका निर्माण अभिकारक से मिलकर होता है उसे उत्पाद कहते हैं ।

जैसे एमजी प्लस ऑटो इक्वल

रासायनिक समीकरण :-

रासायनिक अभिक्रिया को रासायनिक समीकरण द्वारा निरूपित किया जाता है रासायनिक समीकरण के अधिकार को और उत्पादों में पदार्थ के प्रतीकों (सूत्र) का उपयोग किया जाता है प्रतीकों के साथ उनकी भौतिक अवस्था को भी दर्शाया जाता है ।

शब्दों की जगह रसायनिक सूत्र का उपयोग करके रासायनिक समीकरणों को अधिक संक्षप्त तथा उपयोगी बनाया जा सकता है । रासायनिक समीकरण किसे रसायनिक अभिक्रिया को दर्शाता है

जैसे मैग्नीशियम ऑक्सीजन तथा मैग्नीशियम ऑक्साइड के सूत्रों को समीकरण में इस प्रकार लिखा जा सकता है ।

mg +o2 ―> mgo

=> कंकाली समीकरण :-

जब किसी रासायनिक समीकरण के दाई तथा बाई ओर परमाणुओं की तत्वों की संख्या एक समान नहीं हो तो वह समीकरण असंतुलित कहलाता है। क्योंकि समीकरण के दोनों ओर द्रव्यमान बराबर नहीं होता है । ऐसा रासायनिक समीकरण कंकाली समीकरण कहलाता है ।

जैसे :- H2 + CL2 ―> 2HCL

=> संतुलित रासायनिक समीकरण :-

संतुलित रासायनिक समीकरण वह है जिसमें समीकरण के दोनों ओर प्रत्येक तत्व के परमाणुओं की संख्या एकसमान होती है ।

प्रस्तुत समीकरण मेंबायीं ओरदाईं ओर
हायड्रोजन के परमाणुओं की संख्या22
क्लोरीन के परमाणुओं की संख्या22

=> असंतुलित रासायनिक समीकरण :-

असंतुलित रासायनिक समीकरण वह है जिसमें समीकरण के दोनों ओर तत्वों के परमाणुओं की संख्याएँ एकसमान नहीं होती है।

जैसे :- H2 +O2 ―> H2O

प्रस्तुत समीकरण मेंबायीं ओरदाईं ओर
हायड्रोजन के परमाणुओं की संख्या22
ऑक्सिजन के परमाणुओं की संख्या21

=> रासायनिक समीकरण लिखने के नियम :-

  1. अभिक्रिया की अभी कारकों को उनके संकेतों या अनुसूत्र ओं के पदों में समीकरण के बाई और लिखा जाता है ।
  2. अभी कारकों के सूत्रों के बीच धन चिन्ह (+) दिया जाता है।
  3. अभिक्रिया के प्रदीप फलों को उनके संकेतों या अनु सूत्रों के पदों में समीकरण के दाएं और लिखा जाता है।
  4. प्रतिफलों के सूत्रों के मध्य धन-चिन्ह (+) दिया जाता है।
  5. अभिकारकों और प्रतिफलों को एक तीर चिह्न (+) द्वारा अलग-अलग प्रदर्शित किया जाता है। यह तीर चिह्न यह दिखाता है कि अभिक्रिया किस दिशा की तरफ हो रही है ।

=> रासायनिक समीकरणों को संतुलित करना :-

रासायनिक समीकरण का संतुलन द्रव्यमान की अनश्वरता के लियम पर आधारित होता है जिसके अनुसार, सामान्य रासायनिक अभिक्रिया में पदार्थ का नौ तो निर्माण होता है और ना उसका नाश होता है

रासायनिक समीकरणों को संतुलित करने में निम्नांकित दो बातों को ध्यान में रखना आवश्यक है –

  1. अभिक्रिया से संबंध प्रत्येक पदार्थ के सूत्र या संकेत ज्ञात होने चाहिए ।
  2. बायीं ओर के सूत्रों के अधोलिखित के अंक समीकरण को संतुलित करने के क्रम में परिवर्तित हो सकते हैं।

रासायनिक समीकरणों को संतुलित करने का एक सरल विधि भी है जिसको अनुमान द्वारा संतुलन विधि कहते हैं इस विधि द्वारा आप रासायनिक समीकरण को आराम से संतुलित कर सकते हैं तो चलिए देखते हैं स्टेप बाय स्टेप किस तरह से इस विधि द्वारा संतुलित आप कर पाएंगे।

उदाहरण के लिए एक समीकरण लेते हैं Mg + HCL ―> MgCl2 + H2. यह समीकरण अभी संतुलित नहीं है।

1st step : समीकरण के तीर-चिह्न के दोनों ओर प्रत्येक प्रकार के परमाणुओं की गिनती कर लेते हैं । इसके बाद हम तय करते हैं कि किस प्रकार के परमाणु असंतुलित है।

मैं सबसे पहले बता दूं या समीकरण संतुलित क्यों नहीं है आप देख सकते हैं दायाँ साइड H के 2 परमाणु है वहीं बायाँ साइड H के एक परमाणु है। दायाँ साइड CL के 2 परमाणु है और बायाँ साइड CL के एक परमाणु है। इसलिए यह समीकरण संतुलित नहीं है।

बायीं ओरदायीं ओर
Mg11
Cl12
H12

2nd step : इस समीकरण में Mg का परमाणु पहले से ही दोनों तरफ बराबर है। इसलिए हम Mg को संतुलित नहीं करेंगे । Cl और H के परमाणुओं की संख्याओं को संतुलित करना पड़ेगा ।

Mg + 2HCl –> MgCl2 +H2

अब इस समीकरण को देखें तो आप पाएंगे कि सभी परमाणुओं की संख्या संतुलित है।

3rd Step : Mg + 2HCl –> MgCl2 +H2 समीकरण को चेक करेंगे कि यह संतुलित है या नहीं

बायीं ओरदायीं ओर
Mg11
Cl22
H22

=> रासायनिक समीकरण के लाभ

=> रासायनिक समीकरण की सीमाएं

रासायनिक अभिक्रियाएँ के प्रकार

1.संयोजन/संश्लेषण अभिक्रिया (Combination or synthesis reactions )

2.वियोजन/अपघटन अभिक्रिया (Decomposition reaction)

3.वैद्युत अपघटन (Electrolytic decomposition)

4.एकल विस्थापन अभिक्रिया (Single displacement or substitution reaction)

5.उभय-विस्थापन अभिक्रियाएँ ( Double-displacement reactions)

6.अवक्षेपण अभिक्रिया (Precipitation reaction)

7.उदासीनीकरण अभिक्रिया (Neutralisation reaction)

8.प्रकाश रासायनिक अभिक्रिया (Photochemical reaction)

9.ऑक्सिकरण-अभिकरण अभिक्रियाएँ (Oxidation-reduction reaction)

ऑक्सिकरक (Oxidizing agent)

अवकारक (Reduction agent)

Class 10th Science Chapter (थ्योरी )

  • Chapter 1 : रासायनिक अभिक्रियाएँ एवं समीकरण
  • Chapter 2 : अम्ल, क्षारक एवं लवण
  • Chapter 3 : धातु एवं अधातु
  • Chapter 4 : कार्बन एवं उसके यौगिक
  • Chapter 5 : तत्वों का आवर्त वर्गीकरण
  • Chapter 6 : जैव प्रक्रम
  • Chapter 7 : नियंत्रण एवं समन्वय
  • Chapter 8 : जीव जनन कैसे करते हैं
  • Chapter 9 : आनुवंशिकता एवं जैव विकास
  • Chapter 10 : प्रकाश-परावर्तन तथा अपवर्तन
  • Chapter 11 : मानव नेत्र एवं रंगबिरंगा संसार
  • Chapter 12 : विद्द्युत
  • Chapter 13 : विद्युत् धरा के चुम्बकिय प्रभाव
  • Chapter 14 : ऊर्जा के स्रोत
  • Chapter 15 : हमारा पर्यावरण
  • Chapter 16 : प्राकृतिक संसाधनों का सम्पोषित प्रबंधन

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top